प्रौद्योगिकी छोटे डेरी धारकों के जीवन एवं आजीविका में बदलाव ला रही है: अध्‍यक्ष, एनडीडीबी

भोपाल, 20 मार्च 2018: राष्‍ट्रीय डेरी विकास बोर्ड (एनडीडीबी) ने आधुनिक सूचना प्रौद्योगिकी के इस्‍तेमाल द्वारा विभिन्‍न स्‍तरों पर सूचना प्रणाली को स्‍थापित करके डेरी सहकारिताओं को रियल टाईम सूचना उपलब्‍ध कराने के अपने प्रयास को सतत् जारी रखा है । श्री दिलीप रथ, अध्‍यक्ष, एनडीडीबी ने कहा कि केंद्र सरकार के डिजिटल इंडिया स्‍वप्‍न के अनुरूप एनडीडीबी की एकीकृत स्‍वचालित दूध संकलन प्रणाली (एएमसीएस) सॉफ्टवेयर ने डिजिटल नवीनता के माध्‍यम से सहकारी व्‍यवसाय को सुदृढ़ बनाया है । वर्तमान में, भोपाल दूध संघ से संबद्ध 48 डीसीएस इस एएमसीएस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर रहे हैं । 

सॉफ्टवेयर के लाभ 

श्री रथ ने बताया कि संचालनों में पारदर्शिता की शुरूआत करने के अलावा इस सॉफ्टवेयर से प्रक्रियात्‍मक दक्षता में सुधार हुआ है। इसमें दूध संकलन की पूरी प्रक्रिया स्‍वचालित हुई है तथा एक क्लिक से दूध संकलन संचालन सक्रिय होता है । इसस्‍वचालन से हस्तचालित हस्‍तक्षेप नहीं होता है और यह दूध परीक्षण उपकरण को जोड़ता है । प्रत्‍येक स्‍तर पर जवाबदेही सुनिश्चित करने के लिए यह एप्लिकेशन किसानों और अन्‍य हितधारकों को संगत जानकारियां उपलब्‍ध करता है ।प्रत्‍येक ट्रांजैक्‍शन  के लिए किसानों को तुरंत एसएमएस प्राप्‍त होते हैं ताकि पूर्ण पारदर्शिता सुनिश्चित हो और आंकड़ों के हेर-फेर से बचा जा सके । एएमसीएस एंड्रायड एप्लिकेशन में सभी पिछले ट्रांजैक्‍शन की जानकारी प्राप्‍त करने की व्‍यवस्‍था भी है । दूध संघ पोर्टल पर सभी डीसीएस स्‍तरीय आंकड़े भी उपलब्‍ध हैं जो बेहतर योजना निर्माण और कार्य निष्‍पादन नियंत्रण को संभव बनाते हैं । पारदर्शिता और कार्यदक्षता से दूध उत्‍पादकों का इस प्रणाली के प्रति विश्‍वास मजबूत होता है और इससे सहकारिताओं की ट्रांजैक्शन की लागत में भी कमी आती है। 

मूलभूत संचालन 

डीसीएस संचालनों के लिए यह ठोस, मल्‍टी प्‍लेटफार्म, बहु भाषीय सॉफ्टवेयर समाधान है जिसे संघ/महासंघ/राष्‍ट्रीय स्‍तर पर जोड़ा गया है ताकि  पारदर्शिता लायी जा सके, कार्य दक्षता में सुधार हो तथा ओपन सोर्स स्टेक के आधार पर महत्वपूर्ण  इंर्फोमेटिक्स प्राप्‍त हो । इस सॉफ्टवेयर में डीसीएस स्‍तर पर विंडोज, लाइनेक्‍स और बहुस्‍तरीय पोर्टल के साथ जुड़ा एंड्रायड प्‍लेटफार्म उपलब्‍ध है । यह प्रणाली किसानों को उनसे संबंधित सभी जानकारियॉं प्राप्त करने हेतु उन्हें एंड्रायड एप्लिकेशन भी उपलब्‍ध कराती है। एएमसीएस डीसीएस के सभी संचालनों (व्‍यवसाय संचालन, वित्‍तीय लेखांकन, कल्‍याण योजनाएं, शेयर लेन-देन, एमसीएम, लेखा परीक्षा इत्‍यादि) को कवर करता है और यह संघ की प्रणालियों के साथ अबाधित रूप से जुड़ता है । यह एकल एप्लिकेशन अनेक भाषाओं और सभी संभव नियोजन परिदृश्‍य पर काम करता है । कॉन्फिगरेशन ऑप्शन में थोड़े बदलाव के साथ यह देश में मौजूद सभी समिति संयोजन और सदस्य संगठन संरचना को सपोर्ट करता है । इनमें से कुछ संयोजन इस प्रकार हैं – एक/अनेक परिसर में, एक/अनेक संकलन बिंदु पर, बीएमसी/टैंक सहित/उसके बिना, एक/अनेक (डीसीएस ग्रुप में), गाय/भैंस दोनों के दूध की   जानकारी । यह सॉफ्टवेयर सभी सदस्यों,  दूध दाताओं के साथ-साथ प्रबंध समिति के सदस्यों का संपूर्ण विवरण कैप्‍चर करता है । यह एप्लिकेशन बैंकिंग, शिक्षा और पारिवारिक विवरण सहित सदस्‍यों के पशुओं की संख्या का विवरण कैप्‍चर करता है । 

इस एप्लिकेशन में शुद्धता तथा संकलन प्रक्रिया पर प्रभावी नियंत्रण सुनिश्चित करने हेतु अनेक इन-बिल्‍ट कॉन्‍फिगरेबल जांच बिंदु हैं । एएमसीएस में विभिन्‍न मूल्‍य निर्धारण प्रणालियों के अंतर्गत दूध के मूल्‍य निर्धारण के विकल्‍प हैं । यह एप्लिकेशन डायनामिक क्रेडिट जांच तथा डेरी में डिस्पैच को जोड़कर नकद या क्रेडिट आधार पर स्‍थानीय दूध की बिक्री की जानकारी उपलब्‍ध कराता है। यह एप्लिकेशन बल्‍क मिल्‍क कूलिंग संचालनों के सभी आवश्‍यक मापदंडों को ट्रैक करता है और साथ ही निगरानी उपकरणों से विभिन्‍न मापदंडों को अद्यतन करने के लिए इसे डाटा लॉगर के साथ जोड़ा जा सकता है । यह एप्लिकेशन डीजल की खपत ट्रैक करने के साथ-साथ संपूर्ण बीएमसी संचालनों की निगरानी करने में मदद करता है । यह एप्लिकेशन दरों,  यूनिट कन्‍वर्जन, व्‍यापार एवं उपभोक्‍ता योजनाओं को प्रबंधित करने के साथ-साथ उत्‍पादों के स्‍थानीय अथवा केंद्रीय आपूर्तिदाताओं के लिए डीसीएस स्‍तर पर संपूर्ण उत्‍पाद (घी, पशु चारा) के व्‍यावसायिक संचालनों को प्रबंधित करता है तथा साथ ही संपूर्ण आदेश की कैश साइकिल तक पूरी ट्रैकिंग करता है और पता लगाता है ।  

वर्तमान स्थिति 

  • भोपाल, उज्‍जैन और इंदौर दूध संघों के पोर्टल लाइव हैं
  • भोपाल दूध संघ से संबद्ध लाइव डीसीएस – 48
  • इंदौर/उज्‍जैन – प्रशिक्षण कार्य जारी है
  • प्रयुक्‍त प्रमुख मॉड्यूल – सदस्‍य प्रबंधन, दूध संकलन, बल्‍क कूलर प्रबंधन, केंद्रीकृत मूल्‍य चार्ट प्रबंधन, दूध प्रेषण, स्‍थानीय दूध की बिक्री, उत्‍पाद क्रय एवं बिक्री, वस्‍तुसूची प्रबंधन, नकद अग्रिम, सदस्‍य की बिलिंग एवं दूध का भुगतान, पोर्टल डैशबोर्ड ।

भोपाल दूध संघ 2034 क्रियाशील डीसीएस से संबद्ध 63649 दूध देने वाले सदस्‍यों से लगभग 510000 किग्राप्रदि दूध एकत्रित करता है । इस संघ में 37947 महिला सदस्‍य हैं । मध्‍य प्रदेश राज्‍य सहकारी डेरी महासंघ का अनुमानित दूध संकलन 1370000 किग्राप्रदि है । किसानों को प्रति लीटर रू. 33.37 (6% फैट, 9% एसएनएफ) दूध का भुगतान किया गया ।